Modi lockdown Speech

PM मोदी का ऐलान- देश में 3 मई तक जारी रहेगा लॉकडाउन, ज्यादा सख्त होंगे नियम

Modi lockdown Speech – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 3 मई तक कोरोनावायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए वर्तमान लॉकडाउन का विस्तार किया और कहा कि 20 अप्रैल को प्रतिबंधों की समीक्षा की जाएगी, जिससे देश के सबसे गरीब लोगों को कठिनाइयों का सामना ना करना पड़े।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से धैर्य बनाकर रखेने और नियमों का पालन करने को कहा ताकि कोरोना जैसी महामारी को परास्त किया जा सके। इस दौरान उन्होंने लोगों से सात बातों पर साथ मांगा।

प्रमुख बाते

पहली बात- अपने घर के बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें।

दूसरी बात- लॉकडाउन और सुरक्षित दूरी (Social Distancing) की लक्ष्मण रेखा का पूरी तरह पालन करें।

तीसरी बात- अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए, आयुष मंत्रालय द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें।

चौथी बात- कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने में मदद करने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप डाउनलोड करें।

पांचवी बात- जितना हो सके उतने गरीब परिवार की देखरेख करें, उनके भोजन की आवश्यकता पूरी करें।

छठी बात- आप अपने व्यवसाय में साथ काम करने वाले लोगों को नौकरी से न निकालें।

सातवीं बात- देश के कोरोना योद्धाओं, हमारे डॉक्टर- नर्सेस, सफाई कर्मी, पुलिसकर्मी इन सभी का पूरा सम्मान करें।

Modi lockdown Speech
Modi lockdown Speech – “सभी सुझावों को ध्यान में रखने के बाद, हमने लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने का फैसला किया है,” पीएम मोदी ने अपने 25 मिनट के संबोधन में कहा कि कुछ ही समय बाद भारत ने COVID-19 मामलों में 10,000 का आंकड़ा पार कर लिया।

“20 अप्रैल तक, प्रत्येक जिले, प्रत्येक राज्य को बारीकी से देखा जाएगा कि क्या लॉकडाउन का पालन किया जा रहा है। तब हम प्रतिबंधों को शिथिल करने पर निर्णय ले सकते हैं,” प्रधानमंत्री ने कहा, जिन्होंने पारंपरिक लाल और सफेद “गमछा” या कपड़े का इस्तेमाल किया था अपना पता शुरू करने से पहले एक मुखौटा के रूप में तौलिया।

उन्होंने कहा कि देश के कुछ हिस्सों में 20 अप्रैल के बाद कुछ आवश्यक गतिविधियों की अनुमति दी जा सकती है, जिससे संक्रमण से लड़ने में कुछ सुधार हुआ है।

 

अभी और कड़े होंगे नियम

प्रधानमंत्री ने इस बात का भी जिक्र किया कि आने वाले हफ्ते और कठिन हो सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘अगले एक सप्ताह में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कठोरता और ज्यादा बढ़ाई जाएगी। 20 अप्रैल तक हर कस्बे, हर थाने, हर जिले, हर राज्य को परखा जाएगा, वहां लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है, उस क्षेत्र ने कोरोना से खुद को कितना बचाया है, ये देखा जाएगा।’

समस्या देखते ही भारत ने उठाया कदम

सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा जब हमारे यहां कोरोना वायरस के सिर्फ 550 केस थे, तभी भारत ने 21 दिन के संपूर्ण लॉकडाउन का एक बड़ा कदम उठा लिया था। भारत ने समस्या बढ़ने का इंतजार नहीं किया, बल्कि जैसे ही समस्या दिखी, उसे तेजी से फैसले लेकर उसी समय रोकने का प्रयास किया जिससे भारत आज बहुत संभली हुई स्थिति में है।

GyaanGhantaa

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *