Orange alert – सुबह-सुबह आपके घर पर भी अखबार आता होगा। अखबार में आपको कई तरह की खबरें पढ़ने को मिलती हैं। अखबार से आपको देश-दुनिया की घटनाओं के बारे में ही पता नहीं चलता, बल्कि मौसम से संबंधित जानकारी भी मिलती है। अक्सर आपने देखा होगा कि अखबार में भारत के नक्शे पर रेड, ऑरेंज, येलो और ग्रीन अलर्ट रेखाओं के रूप में दर्शाए रहते हैं।

मौसम विभाग समय-समय पर ऐसे अलर्ट्स जारी करता है। क्या आपको पता है कि मौसम के बारे में सचेत करने के लिए भी कुछ चुनिंदा रंगों का प्रयोग किया जाता है। जैसे रेड अलर्ट, येलो अलर्ट या फिर ऑरेन्ज अलर्ट। मौसम विभाग के अनुसार अलर्ट्स के लिए रंगों का चुनाव कई एजेंसियों के साथ मिलकर किया गया है।

Orange alert – खासकर भीषण गर्मी, सर्द लहर, मानसून या चक्रवाती तूफान आदि के बारे में जानकारी देने के लिए इन कलर अलर्ट का इस्तेमाल किया जाता है। जैसे-जैसे मौसम अपने चरम की ओर बढ़ता है, वैसे-वैसे अलर्ट गहरा लाल होता चला जाता है। इसी तरह किसी चक्रवाती तूफान की भीषणता भी इन्ही कलर कोड से होती है। जितना भीषण चक्रवात उतना ही ज्यादा लाल अलर्ट होता जाता है।

 

Orange Alert In Delhi

Orange alert – दिल्ली में कड़ाके की ठंड पड़ रही है और मौसम विभाग ने ठंड को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग समय-समय पर ऐसे अलर्ट्स जारी करता रहता है और विभाग ये अलर्ट रंगों के नाम पर करता है. लोगों के सचेत करने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले इन रंगों में रेड,  ऑरेंज अलर्ट आदि शामिल हैं. आइए जानते हैं आखिर मौसम विभाग कितने रंग के अलर्ट जारी करता है और उन अलर्ट का क्या मतलब होता है…

Orange alert – मौसम विभाग की तरफ से हर मौसम में इस तरह के अलर्ट जारी किए जाते हैं. यह किसी सर्दी, गर्मी या बाढ़ के आधार पर जारी नहीं किए जाते हैं, बल्कि मौसम से संबंधित होने वाली दिक्कतों के आधार पर जारी किए जाते हैं. अगर मौसम से ज्यादा दिक्कत है तो रेड अलर्ट नहीं तो कोई और अलर्ट जारी किया जाता है.

ग्रीन अलर्ट-

यह कोई खास अलर्ट नहीं है, बल्कि इससे जानकारी दी जाती है कि मौसम ठीक है और मौसम से कोई भयानक स्थिति पैदा नहीं हो रही.

येलो अलर्ट

येलो अलर्ट किसी भी खराब मौसम में आगामी दिक्कतों को लेकर सचेत करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. येलो अलर्ट में लोगों को आगे के लिए सचेत किया जाता है और बताया जाता है कि कोई भी दिक्कत आ सकती है.

ऑरेंज अलर्ट(orange alert) –

औरेंज अलर्ट येलो अलर्ट से आगे का कदम है. इस अलर्ट के अनुसार जैसे-जैसे मौसम और खराब होता है तो अॉरेंज अलर्ट तैयार भेजा जाता है. इसमें लोगों को इधर-उधर जाने के प्रति सावधानी बरतने को कहा जाता है.

रेड अलर्ट-

 रेड अलर्ट का मतलब है खतरनाक स्थिति. जब मौसम के ज्यादा खराब होने की संभावना रहती है तो रेड अलर्ट जारी किया जाता है. इसमें भारी नुकसान होने की संभावना के बारे में बताया जाता है.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here