signature bridge – दिल्ली में एक खूबसूरत ब्रिज बनकर तैयार हो गया है जिससे शहर का शानदार नजारा देखा जा सकता है. खास बात ये है कि इस ब्रिज से न सिर्फ गाड़ियों की आवाजाही आसानी से होगी, बल्कि यहां ग्लास बॉक्स होगा जिसमें पहुंचकर सेल्फी लेने का भी मौका होगा. सोशल मीडिया पर इस ब्रिज के बारे में लोग काफी चर्चा कर रहे हैं और फोटोज भी अपलोड कर रहे हैं.

signature bridge – दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल रविवार को बहुप्रतीक्षित सिग्नेचर ब्रिज का उद्घाटन करेंगे. यमुना नदी पर बना यह ब्रिज 5 नवंबर से आम जनता के लिए खुल जाएगा . इस ब्रिज पर 154 मीटर ऊंचा ग्लास बॉक्स भी होगा जो पर्यटक स्थल के रूप में लोगों को शहर का ‘बर्ड्स-आई व्यू’ देगा

signature bridge

signature bridge – दिल्लीवासी इस ब्रिज के ऊपर से शहर के विस्तृत मनोरम दृश्य का आनंद भी ले सकेंगे. इसके लिए चार लिफ्ट लगाई गई हैं चार लिफ्ट की कुल क्षमता करीब 50 लोगों को ले जाने की है. एक अधिकारी ने बताया कि लिफ्ट का दो महीने में परिचालन शुरू हो जायेगा.

signature bridge – शुक्रवार को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसका निरीक्षण किया. इस ब्रिज से उत्तरी और उत्तरपूर्वी दिल्ली के बीच यात्रा का समय कम हो जायेगा. सिसोदिया ने निरीक्षण के दौरान कहा कि यह ब्रिज एक पर्यटन स्थल होगा. सिग्नेचर ब्रिज का प्रस्ताव 2004 में प्रस्तुत किया गया था जिसे 2007 में दिल्ली मंत्रिपरिषद की मंजूरी मिली थी

signature bridge – शुरूआत में अक्टूबर 2010 में दिल्ली में आयोजित होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के पहले 1131 करोड़ रूपये की संशोधित लागत में पूर्ण होना था. इस परियोजना की लागत 2015 में बढ़कर 1,594 करोड़ रूपये हो गई. खबरों के मुताबिक पहली दफा इस ब्रिज को 1997 में प्रस्तावित किया गया था.

1997 में इसकी लागत 464 करोड़ रुपये आंकी गयी थी. यह ब्रिज वर्तमान में वजीराबाद पुल के वाहनों के बोझ को साझा करेगा.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here