हाथ पैरो को मजबूत करेगा यह आसन gym से दिलाएगा छुटकारा

Reverse Table Pose

reverse table pose – आज के समय में भला कौन व्यक्ति फिट नहीं रहना चाहता स्वस्थ और फिट तो हर कोई व्यक्ति रहना चाहता है। चाहे वे कोई भी हो खुद को फिट रखने के लिए कुछ न कुछ तो करने की कोशिश करते रहते है। तो कोई जिम जाकर अपने आप को फिट रखता है तो कोई सुबह सुबह पार्क घूमकर तो कोई फिट रहने के लिए डायटिंग भी करता है। जिसको जो भी समझ मै आता है वह उस काम को करता है

लेकिन यह सब चीजे करना इतना आसान नहीं होता क्योकि यह सब काम करने के लिए बहुत समय लगता है। और आज के समय लोगो के पास इतना टाइम ही नहीं होता की वह इन कामो के लिए अपना वक्त दे पाए यदि आप लोग चाहते है। की आपका ज्यादा समय खराब न हो तो आपको योगासन अपनाना चाहिय यह कम समय में शरीर को स्वस्थ होने के साथ फिट भी रखता है। योग करने से आपका समय भी बचेगा और योग को करने में आपको कोई परेशानी भी नहीं होगी।

हम आपको आज रिवर्स टेबल पोसे आसन के बारे मै बताने जा रहे है ऐसे व्यक्ति जो कम्पूटर पर अधिक समय तक काम करते है। ड्राइविंग करते है या तो ट्रैवलिंग करते है ऐसे लोगो के लिए यह योग बहुत ही लाभदायक होते है इसके साथ यह आपके शरीर मै उर्जा को भी बनाए रखता है।

आपको किसी भी प्रकार के स्पोर्ट्स या ऐक्ट्यिविटी जेसे की स्विमिंग जिमिंग आदि को करने के बाद आपके शरीर मै थकान हो जाती है। और आपके शरीर की एनर्जी कम हो जाती है परन्तु यदि आप योगासन का नियमित रूप से अभ्यास करेंगे तो आप कई प्रकार की समस्याओं से भी बच सकेंगे चलिए जानते है क्या है reverse table pose आसन।

 

Reverse table pose करने की  विघि और इसके लाभ

इस आसन को अंग्रेजी मै टेबल ट्रैप ,क्रेब और हाफ रिवर्स प्लेंक आदि कई नामों से भी जाना जाता है। और संस्कृत मै इसको अर्ध पुर्वोतानासं भी कहते है जिसका अर्थ हाफ इंस्टैंस ईस्ट स्ट्रेच है इस योगासन को नियमित रूप से करने से हमारे हाथ पैरो की मांसपेशियों मजबूत होती है। इसे करने से चर्बी से भी मुक्ति मिल सकती है। ऐसे व्यक्ति जिनको श्वास संबंधित समस्या है उन व्यक्तियों के भी यह आसन बहुत ही लाभदायक हो सकता है। इस योगासन की एक खास बात यह भी है की यह आपका पाश्चर बेहतर बनाता है।

 

reverse table pose आसन करने की विधि

 

इस आसन को करने के लिए सबसे पहले समतल और साफ़ जमीन पर दंडासन में बैठ जाएं।

 

इसके बाद घुटनों को मोड़ते हुए अपने पैरों के पंजो को ज़मीन पर लिटा या चिपका कर रखें।

 

अब अपने दोनों हाथों को कूल्हों के पीछे रखें तथा उंगलियां शरीर से विपरीत दिशा में रखेंइसके पश्चात श्वास को अंदर लेते हुए अपने हाथों का सहारा लेते हुए ऊपर की तरफ उठें और धीरे-धीरे कूल्हों को भी ऊपर की ओर उठाएं|

 

ध्यान रखें कि आपके घुटने और पैरों की उंगलियां सामने की तरफ ही रहें और आप ऊपर देख रहे हों।इसके बाद अब एड़ियों पर ज़ोर डालते हुए कूल्हों को और ऊपर उठाने का प्रयास करें|

 

धीरे-धीरे सांस लें और 5-6 सांस तक इसी स्थिति में बने रहें।कुछ समय इस अवस्था में रहने के बाद धीरे-धीरे कूल्हों को ज़मीन पर लाएं और सामान्य स्थिति में आ जाएं|

 

Reverse table pose आसन के लाभ

 

यह शरीर के ऊपरी हिस्से को एक गहरा खिंचाव प्रदान करता है, जिसमे आपके कंधे, छाती, पेट, और रीढ़ की हड्डी भी शामिल है।

 

यह मुद्रा शरीर की सभी कोर मांसपेशियों और रीढ़ की हड्डी के आसपास की मांसपेशियों में ताकत का निर्माण करती है|

 

साथ ही यह संतुलन बनाए रखने में मदद करती है और पोस्चर को बेहतर बनाती है

 

इसके अलावा यह कलाई, हाथ, पैर, पीठ आदि को मजबूर बनाती है और शरीर को स्फूर्तिवान बनती है तथा तनाव व् थकन से राहत भी दिलाती है|

 

सावधानियां

अगर आप कार्पल टनल सिंड्रोम, कलाई, कमर, गर्दन या पीठ के किसी भी प्रकार के दर्द या रोग से पीड़ित है तो आप इस आसन को बिलकुल न करें| अपनी सीमाओं और क्षमताओं की अपनी सीमा के भीतर हमेशा काम करें। यदि आपके पास कोई चिकित्सा चिंता है, तो योग का अभ्यास करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें। गर्भवती महिलाओं को व् अन्य महिलाओं को मासिक धर्म के समय भी इस आसान का अभ्यास नहीं करना चाहिए|

 

टिप्स

 

1. अभ्यास reverse table pose invigorating हो सकता है! सही तरीके से अभ्यास करते समय यह आपके शरीर की पूरी मोर्चे को खोल देगा। इस मुद्रा का अभ्यास करते समय निम्न जानकारी को ध्यान में रखें:

 

2.अपने कंधे के ब्लेड को एक दूसरे की तरफ चलते रहें यह आपके छाती को उठाने में मदद करेगा।

 

3.अपने पैर समान रूप से मंजिल में दबाएं अपने पैरों के बाहरी किनारों पर रोल न करें

 

4.आपकी जांघें सक्रिय होनी चाहिए और पूरे मुद्रा में व्यस्त होनी चाहिए।

 

5.प्रत्येक अंगुली के माध्यम से नीचे दबाएं

 

6.अपनी बाहों को सीधे और पूरी तरह से लगे रहें। अपने कंधों में पतन न करें

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *