Amritsar train accident – कैसे हुआ अमृतसर ट्रेन हादसा? पटरी से 150 मीटर दूर तक बिखर गए शव के टुकड़े

Amritsar train accident – कैसे हुआ अमृतसर ट्रेन हादसा?

Amritsar train accident – अमृतसर में शुक्रवार की शाम विजयादशमी के मौके पर खुशियां मातम में बदल गईं. जालंधर से अमृतसर जा रही ट्रेन की चपेट में आने से 60 लोगों की मौत हो गई. मारे गए लोग हादसे के समय ट्रेन की पटरियों पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे.

पंजाब के अमृतसर ट्रेन हादसे (Amritsar train accident ) ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है. मौत का ये खौफनाक मंजर जिसने भी देखा उसकी रूह कांप गई. हादसे के बाद जो तस्वीरें और वीडियो सामने आए हैं, वो बेहद डरावने हैं. हादसे के कई वीडियो सामने आ चुके हैं. शायद यह पहली बार है जब किसी ट्रेन हादसे के चंद मिनटों बाद घटना के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए हैं.

कब, कहां और कैसे हुआ हादसा?

Amritsar train accident – ये हादसा अमृतसर और मनावला के बीच फाटक नंबर 27 के पास हुआ. दरअसल, शुक्रवार की शाम करीब 7 बजे अमृतसर के चौड़ा बाजार स्थित जोड़ा फाटक के रेलवे ट्रैक पर लोग मौजूद थे. पटरियों से महज 200 फीट की दूरी पर पुतला जलाया जा रहा था.  इसी दौरान जालंधर से अमृतसर जा रही डीएमयू ट्रेन नंबर 74943 वहां से गुजरी.

ट्रेन  की रफ्तार करीब 100 किमी. प्रति घंटा थी. तेज रफ्तार इस ट्रेन ने ट्रैक पर मौजूद लोगों  को कुचल दिया और देखते ही देखते 150 मीटर के दायरे में लाशें बिछ गईं. हादसे के  बाद अभी तक 60 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की जा चुकी है. जानकारी के मुताबिक  40 शव सिविल अस्पताल में और 19 शव गुरुनानक अस्पताल में रखे गए हैं.

वहीं इस हादसे के बाद स्‍थानीय विधायक नवजोत सिंह सिद्धू की पत्‍नी और पेशे से डॉक्‍टर नवजोत कौर निशाने पर आ गई हैं. प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि रावण दहन कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस नेता डॉ. नवजोत कौर मंच पर मौजूद थीं, लेकिन घटना के बाद कार लेकर मौके से चली गईं.

 

Amritsar train accident

Amritsar train accident – घटनास्थल पर ही रामलीला का मंचन भी हुआ था और इस रामलीला में रावण की भूमिका निभाने वाले दलबीर की भी इस रेल हादसे में मौत हो गई है.

पंजाब के अमृतसर में हुए रेल हादसे ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया. मौत का ये खौफनाक मंजर जिसने भी देखा उसकी रूह कांप गई. हादसे के बाद जो तस्वीरें आईं, वो बेहद डरावनी हैं. रावण को जलता देख रहे लोग जब ट्रेन की चपेट में आए तो पटरी के दोनों ओर दूर-दूर भयावह तस्वीरें दिखाईं दी.

Amritsar train accident – दरअसल, विजयादशमी के मौके पर शुक्रवार शाम अमृतसर के चौड़ा बाजार के पास रावण दहन का आयोजन किया गया था. इस मौके पर यहां बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे. रेलवे ट्रैक के पास बने ग्राउंड में आस-पास के लोग दशहरे का उत्सव देख रहे थे. ये सभी लोग उत्सव देखते-देखते ट्रैक पर पहुंच गए और बड़ा हादसा हो गया. हादसे की बाद की तस्वीरें इतनी डरावनी थीं कि पटरी से 150 मीटर की दूरी तक शव बिखरे पड़े थे. ये देखकर वहां मौजूद लोग गुस्से से भर गए.

 

कैसे और कब हुआ हादसा?

Amritsar train accident – ये हादसा अमृतसर और मनावला के बीच फाटक नंबर 27 के पास हुआ. शुक्रवार शाम के करीब 7 बजे जोड़ा फाटक पर रेलवे ट्रैक पर लोग मौजूद थे. पटरियों से महज 200 फीट की दूरी पर पुतला जलाया जा रहा था.

इसी दौरान जालंधर से अमृतसर जा रही डीएमयू ट्रेन नंबर 74943 वहां से गुजर रही थी. ट्रेन की रफ्तार करीब 100 किमी. प्रति घंटा थी. ट्रेन ने यहां लोगों को कुचल दिया और 150 मीटर के दायरे में लाशें बिछ गईं.

 

अब तक 60 लोगों की मौत

Amritsar train accident – इस हादसे में अब तक 60 लोगों की मौत हो गई है. जबकि 51 लोग गंभीर रूप से जख्मी हैं, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है. हादसे की गंभीरता को देखते हुए पंजाब में आज राजकीय शोक रखा गया है. साथ ही सभी स्कूल कॉलेज बंद रखे गए हैं.

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *